Saturday, February 17, 2018

नदी / River - Thoughts from the chopper ride at Sikkim


The river Teesta descends from the mountains into the plains


नदी 
लाती है 
रेत , छोटे छोटे गोल पत्थर
और पानी 


रेत 
बड़े बड़े ट्रकों में भर कर 
ले जाई जाती है 
उस से बनते हैं 
उसी नदी पर 
बड़े बड़े डैम 
छोटे छोटे गोल पत्थर भी 
कंस्ट्रक्शन वाले ले जाते हैं 
और पानी 
तो हर कोई ही लूटता है.


नदी 
लाती है सब 
और पोस्टमैन सी 
लौटा दी जाती है 
दरवाज़े पर से ही .
नदी की खैर खबर 
कोई नहीं पूछता 


The river
brings
sand, rounded pebbles
and water.
The sand
is filled in big, big trucks
and taken away
to make dams
on the same river.
The construction people
take away
the pebbles
and everyone
steals
the water.


No one asks
the river,
"How are you?"



2 comments:

Jyoti Dehliwal said...

सुंदर प्रस्तुति।

adee s said...

nadi aur stree ki ek hi kahani hai...loved the Hindi one, not so much the English translation.